Hanuman Jayanti 2023: जानिए कब है पूजा का शुभ मुहूर्त, कैसे करें हनुमान जयंती पर पूजा?

Hanuman Jayanti 2023: अंजनी पुत्र, जिसे पवन पुत्र के रूप में भी जाना जाता है, हर साल चैत्र के हिंदू महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है, जिसे हनुमान जयंती के रूप में जाना जाता है। इस वर्ष, यह दिन बुधवार, 6 अप्रैल, 2023 को पड़ता है। हिंदू पौराणिक कथाओं में इस दिन को भगवान हनुमान के जन्म के रूप में मनाया जाता है। भक्त इस अवसर पर हनुमान जी की पूजा करने के लिए उपवास रखते हैं और पूजा करते हैं। इसके अलावा, इस दिन के महत्व को चिह्नित करने के लिए कई स्थानों पर भव्य जुलूस निकाले जाते हैं। मान्यता है कि इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से धन और यश में वृद्धि होती है। लेकिन इस खास दिन पर हमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं हनुमान जयंती पर किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। Hanuman Jayanti 2023

हनुमान जयंती पर इन बातों का रखें खास ख्याल

  • पुनर्मुद्रित पाठ: हनुमान जयंती के अवसर पर सुबह जल्दी उठकर स्नान करें।
  • इस विशेष दिन पर हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ करना अनिवार्य है।
  • शोक की अवधि के दौरान किसी भी प्रकार की पूजा करने से बचने की सलाह दी जाती है।
  • हनुमान जयंती के अवसर पर किसी भी हनुमान मंदिर में अपने दाहिने अंगूठे से मूर्ति के माथे पर सिंदूर लगाएं। याद रखें सिंदूर को कभी भी सूखा नहीं बल्कि तिल के तेल में मिलाकर लगाना चाहिए।
  • हनुमान जयंती का त्योहार भगवान हनुमान को बूंदी या लड्डू जैसी मिठाई का भोग लगाकर मनाया जाता है।
  • हनुमान जयंती के अवसर पर बजरंगबली के किसी भी मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए या भगवान राम के नाम का जाप करते रहना चाहिए।

जानिए कब है पूजा का शुभ मुहूर्त

  1. 6 अप्रैल, 2023 की तारीख को हनुमान जयंती का उत्सव मनाया जाता है।
  2. 5 अप्रैल 2023 को सुबह 7 बजकर 49 मिनट पर पूर्णिमा लग जाएगी।
  3. पूर्णिमा तिथि की समाप्ति 6 अप्रैल 2023 को प्रातः 08 बजकर 34 मिनट पर होगी।
  4. सूर्योदय तिथि के अनुसार हनुमान जयंती 06 अप्रैल 2023 दिन बुधवार को मनाई जाएगी।

हनुमान जयंती की पूजा के लिए शुभ मुहूर्त 6 अप्रैल को सुबह 6 बजकर 6 मिनट से 7 बजकर 40 मिनट तक है। उसके बाद आप अभिजीत मुहूर्त पर पूजा कर सकते हैं, जो दोपहर 12 बजकर 02 मिनट से 12 बजकर 53 मिनट तक है। इसके अलावा शाम को 5 बजकर 7 मिनट से 8 बजकर 7 मिनट तक भी पूजा का शुभ मुहूर्त है। Hanuman Jayanti 2023

कैसे करें हनुमान जयंती पर पूजा?

  • हनुमान जयंती के दिन प्रात:काल स्नान करके स्वच्छ वस्त्र धारण करना सुनिश्चित करें।
  • अब अपने पूजा स्थान या पवित्र स्थान पर भगवान हनुमान की एक तस्वीर या मूर्ति स्थापित करें।
  • भगवान हनुमान के लिए उनकी मूर्ति पर जल डालकर और उस पर सिंदूर लगाकर एक और अनुष्ठान करें।
  • इसके बाद हनुमान जी का केसरी के विशेष लाल चंदन से अभिषेक किया गया। केसरी की अनुपस्थिति में वही पेस्ट तैयार करने के लिए हल्दी और चंदन के मिश्रण का उपयोग किया जाता है।
  • यदि आपके पास लाल गुड़हल नहीं है, तो लाल गुलाब और गेंदों की पेशकश करें क्योंकि वे भारतीय संस्कृति में महत्वपूर्ण महत्व रखते हैं जहां फूल महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • हनुमान चालीसा का पाठ करने के बाद धूप, दीप और भोग लगाकर उनकी पूजा करनी चाहिए।
  • हनुमान जी को कुछ लड्डू या फल अर्पित करें।
  • तुलसी के पत्तों को साफ करने का समय आ गया है।